पीएम मोदी अमेरिका से लाये गुड़ न्यूज, Micron कंपनी गुजरात में लगाएगी Semiconductor plant, 5000 से भी ज्यादा लोगो को मिलेगा रोजगार

दोस्तों पिछले कई दिनों से उम्मीद की जा रही थी कि अमेरिकी चिपमेकर कंपनी Micron Technology भारत में निवेश कर सकती है, आखिरकार इसे मंजूरी मिल गई है। जहां पीएम नरेंद्र मोदी अमेरिका पहुंच रहे हैं, वहीं खबर आई है कि भारत में कैबिनेट ने Micron के 2.7 अरब डॉलर यानी 22 हजार करोड़ रुपये के सेमीकंडक्टर प्लांट को मंजूरी दे दी है.

यह प्लांट गुजरात के साणंद में लगाए जाने की संभावना है। इससे पहले यह भी खबर आई थी कि Micron 1 अरब डॉलर का निवेश करेगा, जिसके 2 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान लगाया गया था। मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि भारत सरकार इस प्लांट के लिए Micron को PLI के तौर पर 1.34 अरब डॉलर यानी 11 हजार करोड़ रुपये देगी.

पीए मोदी ने Micron के CEO से मुलाकात की

रिपोर्ट के मुताबिक, इस समझौते के तहत अमेरिकी सेमीकंडक्टर कंपनी को 1.34 अरब डॉलर के Production-linked incentive (PLI) का भी फायदा मिलेगा. प्रोत्साहन पैकेज के आकार के कारण इसके लिए कैबिनेट की मंजूरी की जरूरत थी. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी अमेरिकी यात्रा के दौरान माइक्रोन के सीईओ संजय मेहरोत्रा के साथ बैठक की थी और कंपनी को सेमीकंडक्टर विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए भारत आने का निमंत्रण दिया था।

कंपनी की ओर से एक बयान में कहा गया कि Micron गुजरात में सेमीकंडक्टर टेस्ट और असेंबली प्लांट लगाएगी। दो चरणों में विकसित होने वाले इस प्लांट पर वह अपनी तरफ से 825 मिलियन डॉलर का निवेश करेगी। शेष राशि केंद्र और राज्य सरकारें निवेश करेंगी।

प्लांट परीक्षण और पैकेजिंग करेगा

जानकारों की मानें तो MICON की यह यूनिट गुजरात के साणंद में लगाई जाएगी. ऐसी इकाइयाँ सेमीकंडक्टर चिप्स का परीक्षण और पैकेज करती हैं, लेकिन उनका निर्माण नहीं करती हैं। Micron प्लांट में ग्राहकों के लिए चिप्स खरीद और पैकेज कर सकता है, या अन्य कंपनियां शिपिंग से पहले अपने चिप्स परीक्षण के लिए भेज सकती हैं। सूत्र ने कहा कि माइक्रोन का भारतीय प्लांट भारत के सेमीकंडक्टर बेस को मजबूत करेगा, लेकिन वास्तविक सफलता के लिए यहां विनिर्माण भी बहुत महत्वपूर्ण है।

इस साल निर्माण कार्य शुरू हो सकता है

संजय मेहरोत्रा ने कहा है कि भारत स्थानीय सेमीकंडक्टर इकोसिस्टम विकसित करने के लिए जो कदम उठा रहा है, उससे हम उत्साहित हैं। मैं भारत सरकार और इससे जुड़े सभी अधिकारियों का आभारी हूं जिन्होंने इस निवेश को संभव बनाया है। भारत में हमारी नई असेंबली और परीक्षण स्थिति माइक्रोन को हमारे वैश्विक विनिर्माण आधार का विस्तार करने और भारत सहित दुनिया भर में हमारे ग्राहकों को बेहतर सेवा प्रदान करने में सक्षम बनाएगी।

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि गुजरात में प्लांट का निर्माण इसी साल शुरू होने की उम्मीद है. चरण 1, जिसमें 500,000 वर्ग फुट नियोजित क्लीनरूम स्थान शामिल होगा, 2024 के अंत में चालू होने की उम्मीद है। माइक्रोन टेक्नोलॉजी के अनुसार, दोनों चरणों के माध्यम से लगभग 5,000 नौकरियां सीधे सृजित होंगी। जबकि 15,000 लोगों को अगले कई वर्षों तक अप्रत्यक्ष रोजगार मिलता रहेगा.

इसे भी पढ़े:

ICC world Cup Qualifiers 2023
India Pakistan Players Fight
Gagar 2 New Poster
Viral video : तार के ऊपर लटकी स्कूटी, वजह जानकर हो जाओगे लोटपोट

Leave a Comment